AAICLAS की बड़ी सफलता, जयपुर में एकीकृत एयर कार्गो टर्मिनल का उद्घाटन


जयपुर। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की कंपनी आईक्लास ने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय कार्गो के एकीकृत एयर कार्गो टर्मिनल का उद्घाटन कर आज गुलाबी नगरी को बड़ा तोहफा दिया है। वैश्विक बाजार में जयपुर के व्यापार और वाणिज्यिक की बढ़ती पैठ और कारोबारियों की सुविधाओं के लिए एयर कार्गो सेवाओं का यह विस्तार स्थानीय कार्गो उद्योग को नई उड़ान देगा। जयपुर से कार्गो के शुरुआती दौर में जहां 2014-15 में 9265 मीट्रिक टन कार्गो का प्रचालन हुआ था जो वर्ष 2019-20 में बढ़कर 17,680 मीट्रिक टन पहुँच गया है। 

जयपुर से एयर कार्गो के शुरुआती दौर में केवल दो एयरलाइन्स गो एयर और इंडिगो ने कार्गो प्रचालन सेवाएं शुरू की थी, जो आज बढ़कर ५ एयरलाइन्स तक पहुँच गया है। अब गो एयर और इंडिगो के अलावा एयर एशिया, स्पाइस जेट और एयर इंडिया भी घरेलू कार्गो प्रचालन कर रही हैं। शुरुआती दौर में यह सेवा कॉमन यूजर डोमेस्टिक कार्गो टर्मिनल से दी जा रही थी, जबकि 2016 में जयपुर ट्रेड और एयरलाइन्स की ओर से अंतरराष्ट्रीय कार्गो सुविधाओं को शुरू करने की मांग की गई। इसी साल भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने एएआई कार्गो लॉजिस्टिक एंड एलाइड सर्विसेज कंपनी लिमिटेड (आईक्लास) का गठन किया । अब कार्गो सेवाओं को वृहद और सुगम बनाने के लिए टर्मिनल-1 पर 13000 वर्ग मीटर में यह एकीकृत एयर कार्गो टर्मिनल बनाया गया है। आईक्लास के इस एकीकृत एयर कार्गो टर्मिनल के जरिये ग्राउंड फ्लोर पर 6600 वर्ग मीटर कवर्ड एरिया में वेईंग स्केल्स, कार्गो ट्रॉली, कोल्ड स्टोरेज, स्ट्रॉंग रूम, एक्सरे मशीन, ईटीडी मशीन, डीएफएमडी, प्लास्टिक पैलेट्स आदि सुविधाएं होंगी। वहीं प्रथम तल पर करीब 1790 वर्ग मीटर में कार्गो बुकिंग काउंटर के अलावा, प्रशासनिक, कस्टम अधिकारियों के कार्यालय, आईक्लास, नियामक संस्थाओं और एयरलाइन्स के कार्यालय होंगे। पूरे कार्गो की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी आईक्लास के डी.जी.आर.गार्ड्स एवँ सीआईएसएफ की होगी । 

फिलहाल जयपुर से शारजाह, दुबई, मस्कट, बैंकॉक, सिंगापुर और ओमान के लिए हवाई सेवा उपलब्ध है और सालाना करीब 3000 मीट्रिक टन अंतरराष्ट्रीय कार्गो का प्रचालन हो पा रहा है। इसमें 70-80 प्रतिशत वैल्यूएबल कार्गो व शेष सामान्य श्रेणी में आता है । जयपुर के इस एकीकृत एयर कार्गो टर्मिनल का उद्घाटन भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण एवं आईक्लास के अध्यक्ष अनुज अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर विशेष अतिथियोँ मेँ सुभाश अग्रवाल, आयुक्त सीमा शुल्क भी उपस्थित थे।  केकू बोमी गज़दर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) आइक्लास (AAICLAS) एवँ गिरीश शर्मा, क्षेत्रीय प्रबंधक (उत्तरी/पश्चिमी)-आईक्लास भी उपस्थित रहे । इसके अतिरिक्त कमांडेंट सीआईएसएफ, क्षेत्रीय निदेशक- बीसीएएस सहित विभिन्न एयरलाइन्स के प्रतिनिधि, कस्टम, नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। 

अनुज अग्रवाल ने बताया कि जयपुर में एकीकृत एयर कार्गो टर्मिनल में आइक्लास द्वारा अत्याधुनिक एकीकृत कार्गो प्रबंधन प्रणाली (ICMS) के साथ दक्षता और सुरक्षा सहित निर्बाध हैंड्लिंग सुनिश्चित की जाएगी जिससे यहाँ के विश्व प्रसिद्ध स्थानीय उत्पादों को बाजार में पहुंचाने में आसानी होगी। एकीकृत कार्गो टर्मिनल से यहाँ के आर्थिक विकास की रफ्तार बढ़ेगी एवं रोजगार के अवसरों में वृद्धि होगी। इस अवसर पर जयपुर विमानपत्तन निदेशक जे॰ एस॰ बलहारा ने भी संबोधित किया। बलहारा ने कहा कि एयर कार्गो टर्मिनल पर सभी अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त मशीनों के द्वारा कार्गो हैंडलिंग की जाएगी। वर्ष 2019-20 में जयपुर एयरपोर्ट से 17680 मीट्रिक टन कार्गो की हैंडलिंग की गई थी । 

आईक्लास एक नजर में...

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की कंपनी एएआई कार्गो लॉजिस्टिक एंड एलाइड सर्विसेज कंपनी लिमिटेड (आईक्लास) कार्गो 6.4 ट्रिलियन अमरीकी डॉलर के वैश्विक बाजार में खास मुकाम रखती है। इसकी स्थापना 11 अगस्त 2016 को की गई थी। यह मल्टी मॉडल इंटरफेस पर काम करती है और जल, थल और वायु तीनों में कार्गो सेवाएँ मुहैया करवाने का लक्ष्य है । यह देश की सबसे तेज लॉजिस्टिक सोल्युशन देने वाली कंपनी है। वर्तमान में आईक्लास 20 अंतराष्ट्ट्रीय व 26 अंतरदेशीय कार्गो टर्मिनल में प्रचालन कर रही है ।  साथ ही आईक्लास श्रेष्ठ कार्गो टर्मिनल ऑपरेटर कंपनी भी है, जो देश के ओद्योगिक विकास में अपनी सेवाओं के जरिये महत्तवपूर्ण भूमिका निभा रही है। 

Share on Google Plus

About ITS INDIA

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें