जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर जयपुर में 22 दिसंबर को सभा


केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, आर एस एस के इंद्रेश कुमार, डॉ. सतीश पूनिया और आरएलपी सुप्रीमो सांसद हनुमान बेनीवाल करेंगे आह्वान

जयपुर। देश में सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर 22 दिसंबर को जयपुर के मानसरोवर क्षेत्र में जनसंख्या समाधान फाउंडेशन की ओर से जनसंख्या समाधान मार्च और सभा का आयोजन किया जाएगा फाउंडेशन के प्रदेश अध्यक्ष नारायण राम चौधरी ने बताया कि  देश भर में टू चाइल्ड पॉलिसी को सभी धर्म और समुदाय के लिए समान रूप से लागू करने को लेकर राजस्थान की धरती पर यह बड़ा आयोजन किया जा रहा है। राजस्थान से यह शुरुआत होने के बाद देश के 50 बड़े शहरों में इस कार्यक्रम की श्रृंखलाबद्ध आयोजन की तैयारियां हो चुकी है।

जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल चौधरी और राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष नारायण चौधरी के साथ बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष ज्ञानदेव आहूजा और महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा के नेतृत्व में तैयारियां जोरों पर चल रही है।

125 सांसदों का हस्ताक्षरित ज्ञापन राष्ट्रपति को
जनसंख्या समाधान फाउंडेशन ने पूर्व में भी देशभर के 125 सांसदों का हस्ताक्षरित ज्ञापन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को दिया है, जिसमें यथाशीघ्र दो संतान के कानून को संपूर्ण भारतवर्ष में लागू करने का आग्रह किया है।

सभी धर्म समुदाय के लिए समान कानून का प्रावधान
जनसंख्या समाधान फाउंडेशन ने भारत में रहने वाले सभी धर्म समुदाय के लिए अधिकतम दो संतान के नियम को कड़ाई से लागू करने का प्रावधान करने की बात कही है।

 सामाजिक व राजनीतिक संगठनों ने दिया समर्थन
जनसंख्या समाधान फाउंडेशन की तैयारी बैठक में प्रदेशभर के सभी राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों ने समर्थन दिया है । फाउंडेशन के इस कार्यक्रम में बीजेपी से केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, आर एस एस के इंद्रेश कुमार, राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सुप्रीमो नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल, राजस्थान वेलफेयर फाउंडेशन के अध्यक्ष हरिराम किवाड़ा, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा समेत गणमान्य जन मौजूद रहकर जनसमर्थन जुटाने की कोशिश करेंगे। 

जनसंख्या नियंत्रण को लेकर यह पहला और बड़ा आयोजन 
राजस्थान में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर बड़े पैमाने पर यह पहला कार्यक्रम होगा, जिसमें कई दलों के राजनेता, सामाजिक संगठन के प्रतिनिधि, विद्यार्थी और शिक्षण संस्थानों के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे । देश में बढ़ रही इस गंभीर समस्या पर चिंतन मंथन करेंगे। 

लंबे समय से चल रही तैयारियां
आयोजन को सफल और प्रभावी बनाने के लिए पिछले 2 महीने से जनसंख्या समाधान फाउंडेशन की तैयारियां चल रही है। अब सारी तैयारियों को लगभग अंतिम रूप दिया जा चुका है और एक सफलतम कार्यक्रम की पूरी रूपरेखा तैयार है।

 बढ़ती जनसंख्या के कारण गृह युद्ध तक की आशंका 
देशभर में बेतहाशा तरीके से बढ़ती जनसंख्या के कारण बेरोजगारी, भुखमरी, भ्रष्टाचार, अतिक्रमण, प्राकृतिक संसाधनों का दोहन, विकास में बाधा, बेतहाशा महंगाई, गरीबी, कुपोषण, अशिक्षा, गिरता भूजल स्तर, घटती कृषि की जोत, आवास की समस्या, बढ़ते अपराध, ग्लोबल वार्मिंग, दुर्घटनाएं, अनियंत्रित यातायात, प्रदूषण जैसी गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इनके समाधान के लिए जनसंख्या समाधान फाउंडेशन लगा हुआ है।

ब्लॉक वाइज हो चुका है जनसंख्या सर्वे 
जनसंख्या समाधान फाउंडेशन की ओर से देश के सभी राज्यों में ब्लॉक और जिला स्तर पर सभी वर्ग में समुदाय का जनसंख्या सर्वे किया जा चुका है। विशेष रूप से राजस्थान के संदर्भ में हर ग्राम पंचायत का डाटा भी फाउंडेशन के पास मौजूद है जिसमें जनसंख्या के विस्फोटक स्थिति से अवगत करवाया गया है।

निकालेंगे जनसंख्या समाधान मार्च
जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर हो रही इस सभा के बाद जयघोष करते हुए जनसंख्या समाधान मार्च निकाला जाएगा, जिसमें प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति से यथाशीघ्र कानून बनाने की मांग को लेकर प्रदर्शन होगा।

इन्होने बनाई आयोजन की रणनीति
जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के राष्ट्र अध्यक्ष अनिल चौधरी, राष्ट्रीय संयोजक ममता सहगल, राष्ट्रीय सचिव धर्मेंद्र धामा, आरएसएस के देवी नारायण पारीक, फाउंडेशन के संरक्षक और प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष ज्ञानदेव आहूजा, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा, फाउंडेशन के प्रदेश अध्यक्ष नारायण राम चौधरी, अजमेर की पूर्व जिला प्रमुख सरिता गैना, फाउंडेशन के राज्य प्रभारी आशुतोष पंत, राजस्थान वेलफेयर फाउंडेशन के अध्यक्ष हरीराम किवाड़ा, रन फॉर जयपुर के संयोजक अप्लाव सक्सेना, राजस्थानी फिल्म निर्माता संतोष मिश्रा, नागौर से सरोज प्रजापत, ब्यावर से अभिषेक जैन, फाउंडेशन के उपाध्यक्ष भगवान दास खत्री,  सचिव अनीता सिसोदिया, मीडिया प्रभारी भिवेश बाली, वाटिका की सरपंच गीता चौधरी और जयपुर की पूर्व महापौर शील धाभाई समेत गणमान्य जनों ने इस कार्यक्रम की रणनीति तैयार की है।
Share on Google Plus

About ITS INDIA

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें