कैपिटल एसेट क्या है - सीए रघुवीर पूनिया



आयकर अधिनियम की  धारा 2(14) में यह बताया है कि कौन- कौन सी सम्पतियाँ कैपीटल एसेट हैं अर्थात उनको बेचने पर इनकम टैक्स लगेगा।

1. सभी संपतियां कैपिटल एसेट हैं जैसे, प्लाट, भूमि एवं भवन, शहरी एग्रीकल्चर लैंड
2. शहरों के पास की कृषि भूमि (10 लाख से अधिक आबादी वाले शहर के निगम या नगरपालिका की सीमा से 8 किमी तक की हवाई दूरी की कृषि भूमि, 1 लाख से अधिक  एवं 10 लाख से कम आबादी है तो नगरपालिका की सीमा से 6 किमी तक कि हवाई दूरी की कृषि भूमि कैपीटल एसेट होगी तथा 10 हजार से 1 लाख के बीच की आबादी है तो 2 किमी तक कि हवाई दूरी की कृषि भूमि, कैपिटल एसेट होगी)। अर्थात 10 हजार से कम की आबादी वाली नगरपालिका की सीमा से बाहर की कृषि भूमि कैपिटल एसेट नहीं है यानी कोई टैक्स नहीं।

अधिकांश छोटे शहर 10 हजार से 1 लाख के बीच आते हैं वहां नगरपालिका की सीमा से 2किमी दूर की कृषि भूमि कैपिटल एसेट नहीं है यानी कोई टैक्स नहीं। 10 लाख से बड़ी आबादी वाले शहरों से निगम की सीमा से 8 किमी की दूरी की कृषि भूमि पर कोई टैक्स नहीं।

नोट:- एग्रीकल्चर भूमि पर टैक्स की बात आते ही सबसे पहले निकटतम नगरपालिका से दूरी देखनी है, तथा उस नगरपालिका की पिछली जनगणना के अनुसार जनसंख्या देखनी है।

3. जेवेलरी, ड्राइंग, पेंटिंग,आर्ट वर्क आदि भी कैपिटल एसेट है सिर्फ बर्तन (जो चांदी के भी हो सकते हैं), कार,घड़ी आदि को छोड़ते हुए।
4. अन्य सभी संपत्तियां कैपिटल एसेट हैं जैसे म्यूच्यूअल फण्ड, शेयर आदि।

- सीए रघुवीर पूनिया, जयपुर 931450729
Share on Google Plus

About ITS INDIA

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें