कोरोना के खिलाफ हमें एकजुट होना होगा - रजनीश राणा, कमाण्डो

सिक्किम। राम राम भाईयों। समस्त देशवासियों को रजनीश राणा का नमशकार। रजनीश राणा कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इस जंग में मेरे सभी देशवासी, भाई मेरा साथ दें। कोरोना के खिलाफ मेरा सुझाव है कि -

1. कोरोना मरीज को तीनों टाइम का स्वस्थ भोजन मिलना चाहिए।

2. कोरोना मरीज को कोई भी मर्ज है, तो उसकी दवाई मिलनी चाहिए और कोरोना मरीज को ज्यादा तंग न किया जाए और कोरोना मरीज को जल्द से जल्द ठीक किया जाए।

इसमें हमारे देश के नेता, डॉक्टर, पुलिसकर्मी सभी आम आदमी भी जंग लड़ रहे हैं, लेकिन जंग लड़ते-लड़ते फिर भी ठीक नहीं हो पा रहे हैं।

अत: इसके खिलाफ रजनीश राणा जंग लड़ेगा। जंग इस प्रकार की है। सभी देशवासी एक साथ जो हिंदू धर्म से ताल्लुक रखते हैं, तो ओम नम: शिवाय का 108 बार जाप करेगा। यह 15 दिन तक करना है। साथ ही जो अन्य धर्म के लोग हैं, अपने इष्ट देव का 108 बार जाप करें। चाहे हिन्दू हो या मुस्लिम या कोई अन्य धर्म से ताल्लु रखने वाले सभी लोग 15 दिनों तक अण्डा, मीट का सेवन नहीं करें। मेरा विश्वास है कि यह कोरोना वायरस 15 दिनों में खत्म हो जाएगा। आप अपने पर और परमात्मा पर विश्वास करें और मुझे इस कार्यवाही के लिए परमात्मा ने भेजा है। परमात्मा ही मेरा तो एक सहारा है।

भाईयों मैं एक शिवभक्त हूं और पिछले दो वर्षों से शिव शंकर भोलेनाथ त्रिनेत्रधारी की समय से पूजा करता हंू। शिवशंकर भोलेनाथ मेरे सपने में आए और उन्होंने बताया कि देश में यह कार्यवाई करवाई जाएगी, तो हिन्दुस्तान कोरोना मुक्त होगा और हमारे देश के प्रधानमंत्री इस कार्यवाही को आगे बढ़ाएं। मैं रजनीश राणा पुन: विनती करता हूं कि सभी देशवासी मेरी बात पर विश्वास करे। जय महाकाल, जय शिव शंकर, हर-हर महादेव सभी धर्मों के लोगों को, देशवासियों को जय हिंद, जय भारत।

- रजनीश राणा, कमाण्डो, सिक्किम  (निवासी : लावा दाउदपुर, जिला - श्यामली, उत्तर प्रदेश)

(यह आलेख लेखक रजनीश राणा के निजी विचार हैं। इस आलेख के संदर्भ में समस्त जिम्मेदारी लेखक की है। हम लेखकों, कवियों, बुद्धिजीवियों को लेखन के लिए प्रोत्साहित करते हैं।)

Share on Google Plus

About ITS INDIA

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें